cleanipedia India
बाथरूम सफाई

सिरका के साथ बाथरूम कैसे साफ करें | बाथरूम सफाई युक्तियाँ

सिरका का उपयोग करके अपने बाथरूम को साफ और स्वस्थ रखने के लिए यहां कुछ सरल कदम दिए गए हैं।

हमें ये चीज़ हमेशा याद रखनी चाहिए की हमारा बाथरूम, हमारे और हमारी हाइजीन हैबिट्स के बारे में, काफ़ी कुछ बताता है। एक गन्दा बाथरूम न केवल आपको दूसरों के सामने शर्मिंदा करवा सकता है बल्कि आपको और आपके घरवालों को बीमार भी कर सकता है। बाथरूम में मौजूद नमी के कारण गंदे बाथरूम में बदबू भी आने लगती है। लेकिन परेशान न हो बाथरूम की प्रॉब्लम से लड़ने के लिए आपको जो हथियार चाहिए वो आप ही के किचन में मिल जाएगा। मैं बात कर रही हूँ सिरके यानि विनेगर की! सिरका न सिर्फ बाज़ार में बिकने वाले टॉयलेट क्लीनर्स से ज़्यादा सेफ और किफ़ायती है बल्कि एक कारगर डिसइंफेक्टेंट भी है और सबसे अच्छी बात ये कि ये अधिकाँश घरों में पहले से ही हमारे किचन में होता है। अपने बाथरूम की सफाई के लिए आप सिरके को इस प्रकार उपयोग में ला सकते हैं-


  1. दाग-धब्बों के लिए- बाथरूम की फ्लोर, टाइल्स या काउंटर टॉप्स पर से जमे हुए दाग हटाने के लिए एक बोल में आधी आधी मात्रा में सिरका और पानी मिला लें। अब एक पॉलिएस्टर फाइबर के कपड़े को इसमें भिगोकर दागों को पोंछ दें।

  2. फ्लोर के लिए- फ्लोर की रेगुलर सफाई के लिए सिरके और पानी का एक डायल्यूट घोल बना लें। इसके लिए सिरके और पानी को लगभग 1 :12 के अनुपात में लें।

  3. नलों के लिए- अक्सर नलों पर खारा पानी और साबुन जमने लगता है, जो न सिर्फ दिखने में गन्दा लगता है बल्कि ज़्यादा अनदेखा किया जाए तो नलों को जाम भी कर सकता है। इससे छुटकारा पाने के लिए एक चम्मच नमक चार चमच्च सिरके में घोल कर नलों पर स्प्रे करें। कुछ देर छोड़ कर एक साफ़ कपड़े से पोंछ दें। आपके नल एक बार फिर नये जैसे चमचमाने लगेंगे।

  4. टॉयलेट पॉट के लिए- इसके लिए सिरके को बिना पानी मिलाये सीधा प्रयोग करें।

  5. शावर हेड्स के लिए- पानी की खार कुछ समय बाद शावर के छेदों को बंद करने लगती है। इससे निजात पाने के लिए अपने शावर हेड को कुछ घंटों के लिए सिरके में डुबोये रखे और बाद में पानी से धो दें।

इस तरह बाथरूम की सफाई में आपका हाथ बटाएगा- सिरका!

टॉप टिप


सिरका, ब्लीच या साबुन के साथ संयुक्त नहीं किया जाना चाहिए। जबकि सिरका कई परिस्थितियों में सतहों और फिक्स्चर को साफ करता है, इस तरह के एसिड को ब्लीच में मिलाने से क्लोरीन गैस बन सकती है, जो विषाक्त है। इसी प्रकार, साबुन क्षारीय है और सिरका अम्लीय है। संयोजन में, सिरका और साबुन केवल एक दही जैसी तलछट बनाते हैं, जो किसी भी सफाई उद्देश्य के लिए उपयोगी नहीं है।