cleanipedia India
कपड़ों की देखभाल

बच्चोंके कपडे उनके छोटे भाई बहनों के लिए कैसे संभाल के रखें

क्या आप अभी भी यह पता लगा रहे हैं कि छोटे बच्चे के लिए अपने पुराने बच्चे के कपड़े कैसे स्टोर करें? जानें कि इन सहायक टिप्स के साथ बच्चे के कपड़ों को आसान तरीके से कैसे स्टोर किया जाए।

छोटे बच्चे काफ़ी तेज़ी से बढ़ते हैं। इस कारण उनके सुन्दर सुन्दर कपड़े उन्हें बहुत जल्द छोटे पड़ने लगते हैं और किसी काम के नहीं रह जाते। मगर उनसे जुड़ी यादों और भावनाओं के कारण, उन्हें किसी और को देना भी आसान नहीं होता। तो क्यों न उन कपड़ों को, हमारे बच्चों के आने वाले भाई-बहनों के लिए सहेज कर रख लिया जाए! आइये देखते हैं कैसे-

  1. धोना- किसी भी कपड़े को रखने से पहले उसे गुनगुने गर्म पानी में हलके साबुन के साथ अच्छी तरह से धो लें। सफ़ेद और हलके रंग के कपड़ों पर लगे दाग साफ़ कर लें। इसके बाद, कपड़ों को रखने से पहले उन्हें पूरी तरह सूखा लें। कपड़ों में नमी रह जाये तो बदबू पैदा हो सकती है।

  2. चुनना- अपने प्यारे बच्चे के कपड़ों में से क्या रखें क्या नहीं, ये निश्चित करना थोड़ा कठिन हो सकता है। लेकिन दिल से न सोच कर दिमाग से काम लें। कटे-फटे और घिस चुके कपड़े न रखें। साथ ही बच्चों के जूते भी न रखें क्यूँकि ये आपके पहले बच्चे के पैर का आकर ले चुके हैं जो ज़रूरी नहीं की दूसरे बच्चे को सही बैठें।

  3. साइज़ से छाँटना- सुनने में आसान लगने वाली ये प्रक्रिया काफी जटिल हो सकती है, क्यूँकि हर ब्रैंड का अपने साइज़ का अलग मायना होता है। तो पूर्णतः लेबल्स पर न जाकर, आप अपने हिसाब से कपड़ों को साइज़ के अनुसार छाँट लें।

  4. प्रकार से छाँटना- साइज़ के अनुसार कपड़ों को अलग अलग करने के बाद इनके प्रकार भी अलग कर लें, जैसे गर्मी के कपड़े, ठंड कपड़े आदि। बच्चों के मोज़े, कम्बल, चादर इनका भी एक अलग ढेर बना लें।

  5. नामकरण- अंतिम क्रिया यही है, सभी प्रकार के कपड़े अलग करने के बाद, प्लास्टिक की सील हो सकने वाली थैलियाँ लें। एक प्रकार के सब कपड़े, एक थैली में डाल कर, उसे सील कर दें ताकि वो धूल और नमी से सुरक्षित रहें। आसानी से ढूँढ पाने के लिए, हर थैली पर उसके प्रकार का नाम लिख दें।

बस इन बातों का ध्यान रखें और अपने आने वाले बच्चे के लिए ये सौगात बचाए रखें!

टॉप टिप


याद रखें बच्चों के कपडे स्टोर करने से पहले उनके दाग जरूर निकाल दीजिये|