कॉटन की बात ही अलग होती है, इसका लुक भी काफ़ी डिसेन्ट होता है, लेकिन इसकी रौनक और चमक ज़्यादा देर तक बरक़रार नहीं रहती। ऐसे में कॉटन से बने किसी भी फ़ैब्रिक की उम्र बढ़ाने के लिए इन बातों का ख़ास ख़्याल रखें:

  • कॉटन के कपड़ों की सबसे बड़ी समस्या होती है, इसका फीका पड़ना। इससे बचने के लिए कॉटन के कपड़ों को हमेशा ठंडे पानी से धोएं, गर्म पानी इस्तेमाल करने से इसका रंग निकलता है। साथ ही ठंडे पानी में धोने से ये कम सिकुड़ता है।
  • कॉटन के हल्के और गहरे रंग के कपड़ों को छांट लें और दोनों को अलग-अलग ही धोएं। इससे गहरा रंग हल्के रंग के कपड़ों पर नहीं चढ़ेगा।
  • कपड़ों को मशीन में धोने के लिए उल्टा करके डालें। इससे कपड़े की बाहरी प्रिंट निकलेगी नहीं और रंग भी फीका नहीं होगा।
  • कॉटन के कपड़ों को धोने के लिए माइल्ड डिटर्जेंट का इस्तेमाल करें। इससे कपड़े मुलायम बने रहेंगे।
  • कपड़ों को नर्म-मुलायम बनाए रखने के लिए फ़ैब्रिक सॉफ़्टनर यूज़ करें। अगर मशीन में धो रहे हैं तो कपड़ों से भरे लोड में २ बूंद भी काफ़ी है। अगर हाथ से धो रहे हैं तो कपड़ों को खंगालते समय इसका इस्तेमाल करें।
  • इन्हें तेज़ धूप से भी बचाए रखें वरना धूप में इनका रंग उड़ सकता है। इन्हें हमेशा नर्म धूप में सुखाएं।
  • चूंकि कॉटन के कपड़े पहली ही धुलाई में सिकुड़ जाते हैं, इसलिए इन्हें हमेशा ज़्यादा तापमान पर प्रेस करें।

इन नुस्ख़ों को अपनाएंगे तो कॉटन के फ़ैब्रिक नर्म-मुलायम बने रहेंगे और लंबे समय तक टिकेंगे भी।