विज्ञापन
Buy Domex

आपके घर का कोई सदस्य है बीमार, तो स्वच्छता का ख़्याल रखें इस प्रकार!

अगर परिवार का कोई सदस्य बीमार पड़ जाए, तो उसकी सही देखभाल के साथ-साथ परिवार के बाकी सदस्यों को कीटाणुओं से सुरक्षित रखने के लिए इन आसान उपायों को अपनाएं।

अपडेट किया गया

आपके परिवार के सदस्यों को कीटाणुओं से सुरक्षित कैसे रखें | क्लीएनीपीडिया

चल रहे फ्लू सीज़न में अगर आपके परिवार का कोई सदस्य बीमार हो जाता है, तो बेशक़ आप चिंतित होंगे। ऐसे में अगर आपको इस बात की जानकारी है कि बीमारी फैलानेवाले कीटाणुओं से सुरक्षा के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, तो आपकी चिंता काफ़ी हद तक कम हो जाती है। लेकिन अगर आपको नहीं मालूम है कि ऐसे में क्या करना चाहिए, तो भी आपको परेशान होने की ज़रूरत नहीं है। नीचे कुछ आसान तरीक़े दिए गए हैं, जो परिवार के अन्य सदस्यों में इन्फ़ेक्शन को फैलने से रोकने में मददगार साबित होंगे।

१) बीमार व्यक्ति के लिए स्वच्छता की आदतें

बीमार व्यक्ति के लिए सावधानी बरतना और स्वच्छता बनाए रखना बहुत ज़रूरी है। यदि उन्हें बुख़ार है, तो उनके लिए सबसे अच्छा यह है कि वे घर पर रहें और इन्फ़ेक्शन न फैलाएं। फेसमास्क पहनना उनके लिए बेहतर है। खांसने या छींकने पर उन्हें अपने मुंह को टिशू पेपर से ढंकने को कहें। इतना ही नहीं, उन्हें अपने हाथों को बार-बार साबुन और पानी या अल्कोहल-आधारित हैंड सैनिटाइज़र से साफ़ करना चाहिए, जैसे कि लाइफबॉय के सैनिटाइज़र जो बाज़ार में उपलब्ध हैं।

२) देखभाल करने वालों के लिए स्वच्छता की आदतें

अपने परिवार की बेहतर देखभाल करने से पहले आपको अपने स्वास्थ्य का भी ख़्याल रखना होगा। आप जब भी अपने परिवार के बीमार सदस्य के पास हों तो फेसमास्क पहनना न भूलें। अगर आपके हाथ सही तरीक़े से नहीं धुले हैं, तो अपने आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें। अपने हाथ को थोड़े-थोड़े समय के बाद साबुन और पानी या हैंड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल कर धोएं और साफ़ करें। इतना ही नहीं, आपको घर के लिविंग रूम, बाथरूम और किचन में हवा का प्रवाह बनाए रखना चाहिए।

विज्ञापन

Buy Domex

३) सतह की सफ़ाई के लिए

किसी के छींकने के बाद कीटाणु ३ फीट तक फैल सकते हैं और इन्फ़ेक्शन फैला सकते हैं। साथ ही घर की अलग-अलग सतहों पर जाकर चिपक सकते हैं। घर की कुछ जगहों की सतह को बारंबार घर का कोई न कोई सदस्य छूता ही रहता है, जैसे स्विचबोर्ड, दरवाज़े के हैंडल, मेज़, नल, कैबिनेट हैंडल, टॉयलेट सीट, फ्लश हैंडल, टेलीफ़ोन, लैपटॉप कीबोर्ड आदि। इन सभी सतहों को रोज़ाना साफ़ करना बेहतर होगा।

सतह से धूल और गंदगी को साफ़ करने के लिए रोज़ाना इस्तेमाल में आनेवाले डिटर्जेंट को पानी में घोलकर सतह की सफ़ाई करें। सतह की सफ़ाई के बाद उन्हें कीटाणुमुक्त रखें। इसके लिए आप ब्लीच से बने (सोडियम हाइपोक्लोराइट) प्रॉडक्ट, जैसे कि डोमेक्स फ्लोर क्लीनर का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो कीटाणुओं को साफ़ करने में मदद करता है। प्रॉडक्ट की योग्यता की जांच के लिए पहले सतह के एक छोटे से हिस्से पर प्रॉडक्ट लगाएं और पानी से धोएं।

४) कपड़ों की धुलाई के लिए

सिर्फ़ सतह ही नहीं, कपड़ों में भी कीटाणु अपना घर बना सकते हैं। कपड़ों को कीटाणुमुक्त रखने के लिए उनको अच्छी तरह से धोना ज़रूरी है। डिटर्जेंट से कपड़ों को अच्छी तरह धोने से कीटाणुओं को कपड़ों से दूर रखने में मदद मिलती है। आप चद्दर और कपड़े को धोने के लिए रिन आला जैसे ब्लीच (सोडियम हाइपोक्लोराइट) का उपयोग कर सकते हैं। रिन आला में सोडियम हाइपोक्लोराइट ब्लीच होता है। इस वजह से हमारा सुझाव है कि आप इसका इस्तेमाल सिर्फ़ सफ़ेद कपड़ों पर करें। रंगीन कपड़ों पर प्रयोग न करें।

बीमार सदस्य के कपड़ों को हमेशा अपने शरीर से दूर रखें और कपड़ों को धोते या ब्लीच करते वक़्त दस्ताने पहनें। अगर आप वॉशिंग मशीन का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो कपड़ों पर लगे लेबल के अनुसार सही तापमान पर धोएं।

कपड़े धोने के बाद, सुरक्षित रूप से दस्ताने निकालें और फिर उन्हें अच्छी तरह से कागज़ में लपेटकर कूड़ेदान में डाल दें। फिर अपने हाथों को साबुन और पानी या अल्कोहल से बने हैंड सैनिटाइज़र से धोएं। अपने कपड़ों को धूप में ही सुखाएं।

५) घरेलू वस्तुओं की स्वच्छता के लिए

सुनिश्चित करें कि परिवार के हर सदस्य के पास अलग-अलग प्लेट, ग्लास और कप हो। इस्तेमाल के बाद बर्तनों को अच्छी तरह से डिशवॉश डिटर्जेंट से धोएं। यहां तक ​​कि तौलिये या चद्दरों को परिवार के सदस्यों के बीच सांझा नहीं किया जाना चाहिए और नियमित रूप से बदल दिया जाना चाहिए। अन्य सभी घरेलू वस्तुओं को साबुन और पानी से अच्छी तरह से धोया जाना चाहिए या हर उपयोग के बाद कीटाणुमुक्त किया जाना चाहिए।

अपने परिवार को इन्फ़ेक्शन से सुरक्षित रखने के लिए इन महत्वपूर्ण और सरल सुझावों को अपनाएं।

मूल रूप से प्रकाशित