भारतीय संस्कृति में रंगोली का अलग ही महत्व है, खास करके तब, जब त्योहारों का टाइम हो! लेकिन अगर आप रंगोली से अपने बच्चों या पेट्स की सेहत को लेकर परेशान हैं, तो बाज़ार से केमिकल्स वाली रंगोली खरीदने के अलावा अब आपके पास यह ऑप्शन भी है की अब आप खुद, घर पर ही, रंगोली के रंग बना सकते हैं, वोह भी इकोफ्रैंडली, केमिकल फ्री और एकदम सेफ। तो आइये देखते हैं कि आप ये रंग कैसे बना सकते हैं:


  1. सबसे पहले हरा यानी ग्रीन कलर- हरा रंग प्रकृति और जीवन का प्रतीक होता है। इसे बनाने के लिए आप अलग अलग प्रकार की हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ सूखा कर, उन्हें बारीक पीस कर, रंग की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं , जैसे मेथी, पालक, पुदीना, धनिया आदि। जितने प्रकार की सब्ज़ियाँ, उतने शेड्स...

  2. पीला रंग- पीला या येलो कलर काफी ब्राइट और पॉज़िटिव रंग है जो हैप्पीनेस या खुशहाली का प्रतीक है। इसे बनाना बेहद आसान है। इसके लिए आपको चाहिए चावल का आटा और हल्दी पाउडर, आटे को हल्दी में मिला लें, पीला रंग तैयार है।

  3. लाल रंग- लाल रंग बोलते ही मेरे दिमाग में सबसे पहले एक ही चीज़ आती है- रेड रोसेस। लाल गुलाब के पत्तों से रंगोली बनाइये और अपने पड़ोसियों को जलने दीजिये क्यूँकि इससे न केवल आपकी रंगोली सुन्दर लगेगी, बल्कि आपका पूरा घर भी महक उठेगा। लाल रंग के अलग शेड्स के लिए आप अनार के छिलके या गाजर भी सूखा कर पीस सकते हैं

तो त्योहारों की शुरुआत होने वाली है, आप भी रंगोली के रंग तैयार कर ही लीजिये!