विज्ञापन
Buy Domex

लॉकडाउन के बाद ऑफ़िस की गाड़ी कर रहे हैं इस्तेमाल? सुरक्षित यात्रा के लिए रखें इन बातों का ख़्याल!

यदि ऑफ़िस से आपको पिकअप व ड्रॉप की सुविधा मिल रही है, तो इससे आप सार्वजनिक परिवहन में यात्रा से बच सकते हैं। लेकिन अब भी ख़ुद को संक्रमण से बचाए रखने के लिए आपको कुछ सावधानियां बरतनी होंगी।

अपडेट किया गया

Resumed Work Post Lockdown? Here’s How to Stay Safe While Using Office Transport

अगर लॉकडाउन के बाद आपका ऑफ़िस फिर से खुल गया है और आपने ऑफ़िस जाना शुरू कर दिया है, तो पता लगाएं कि क्या ऑफ़िस परिवहन की व्यवस्था कर रहा है? यह आपके लिए ज़्यादा अच्छा होगा। हालांकि ऑफ़िस की गाड़ी में भी यात्रा करते समय आपको कुछ आवश्यक सावधानी बरतनी होगी। पेश हैं कुछ ऐसे आसान टिप्स जिससे आप संक्रमण से बचे रहेंगे। अगर आपके परिवार का कोई सदस्य ऑफ़िस जाने के लिए ऑफ़िस की गाड़ी इस्तेमाल कर रहा है, तो उन्हें भी ये टिप्स अपनाने को कहें। 

आप या आपके परिवार का कोई सदस्य बीमार है, तो आपको घर पर ही रहना चाहिए। अपने सहकर्मियों को भी ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करें। इससे ऑफ़िस में संक्रमण फैलने की संभावना कम हो जाएगी।

१) फेस मास्क पहनें 

ख़ुद को और दूसरों को संक्रमण से बचाने के लिए मास्क के अलावा कोई और विकल्प नहीं है। जब आप घर के बाहर निकलते हैं या ऑफ़िस की गाड़ी के अंदर होते हैं, तो अपने मुंह और नाक को फेस मास्क से ढंकना ज़रूरी है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, कोरोना वायरस लार की बूंदों से फैलता है और कई फीट तक यात्रा कर सतहों पर बैठता है। ऐसा तब होता जब कोई अपने मुंह या नाक को ढंके बिना छींकता या खांसता है। फेस मास्क इस वायरस को  फैलने से रोकने का काम करता है। इसके साथ ही ड्राइवर ने भी फेस मास्क पहना हुआ है, यह सुनिश्चित करें। अगर आपके साथ कोई सहयात्री है, तो सरकारी नियमों के अनुसार उसे भी फेस मास्क पहनना चाहिए। घर आने के बाद मास्क को सुरक्षित तरीक़े से डिस्पोज़ करना न भूलें। फेस मास्क को डिस्पोज़ कैसे करें, यह जानने के लिए यहां क्लिक करें।

विज्ञापन

Buy Domex

२) सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें 

अगर गाड़ी में सिर्फ़ आप और ड्राइवर ही हैं, तो आप गाड़ी की पिछली सीट पर बैठें। अगर अन्य सहकर्मी को आपके साथ यात्रा करने की अनुमति दी गई है, तो सरकार के नियमों के अनुसार, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना ज़रूरी है। आप में से किसी एक को आगे की सीट पर और दूसरे व्यक्ति को पीछे की सीट पर बैठना चाहिए। साथ ही अपने सहयात्री से हाथ न मिलाएं और कम से कम बात करें।

अगर ऑफ़िस की गाड़ी आपको किसी ऐसी जगह से पिकअप करती है जहां लोगों की ज़्यादा भीड़ होती है, जैसे कि बस स्टैंड या मुख्य सड़क। तो आप इस भीड़ से दूर खड़े रहें और मास्क पहने रहें।

सीडीसी के अनुसार, अगर आप अपने और दूसरों के बीच में ६ फीट की दूरी बनाए रख सकते हैं, तो यह गतिविधियां अधिक सुरक्षित हैं, क्योंकि कोविड-१९ उन लोगों के बीच आसानी से फैलता है जो एक-दूसरे से ६ फीट भीतर होते हैं। अगर आप यह जानना चाहते हैं कि लॉकडाउन के बाद सार्वजनिक परिवहन में सुरक्षित यात्रा कैसे करें, तो यहां क्लिक करें।

३) गाड़ी की सतह न छुएं

गाड़ी के अंदर बैठने पर जहां तक संभव हो, सीट, खिड़कियां,  हैंडल,  हेडरेस्ट या रिमोट कंट्रोल को छूने से बचें। हो सकता है इन सतहों को ड्राइवर या फिर किसी अन्य यात्रियों ने छुआ हो। अगर उन यात्रियों में से कोई बीमार है और फिर खांसने या छींकने के बाद सतहों को छूता है, तो कोरोना वायरस या अन्य संक्रमण होने का ख़तरा बढ़ जाता है। 

बचाव का दूसरा सुझाव यह है कि ऑफ़िस की गाड़ी में यात्रा करते समय अपने मोबाईल फ़ोन का कम से कम इस्तेमाल करें। बिना हाथ धोए और ज़्यादा बार छुई जाने वाली सतहों को छूने के बाद फ़ोन को छूने से उस पर कीटाणु इकट्ठा हो सकते हैं। इसलिए, यात्रा करते समय अपने मोबाइल फ़ोन को अपने बैग या जेब में रखना सबसे अच्छा उपाय है।

ऑफ़िस की गाड़ी में यात्रा करते वक़्त खाना खाने या कॉफ़ी पीने से बचें। खाना खाने या कॉफ़ी पीने के लिए आपको अपने चेहरे से मास्क हटाना पड़ेगा और कई सारी सतहों को छूने के बाद बिना हाथ धोए उसका उपयोग करना पड़ेगा। 

४) हाथों को साफ़ रखें 

ऑफ़िस जाते वक़्त यात्रा के दौरान हाथों को साफ़ रखना और अपने हाथों से अपने चेहरे या मुंह को न छूना सबसे ज़्यादा ज़रूरी है। अपने हाथों को साफ़ करने के लिए २० सेकेंड तक साबुन और पानी से हाथों को धोना एक आसान और अच्छा तरीक़ा है। पर यात्रा के दौरान आपके पास साबुन और पानी की सुविधा उपलब्ध नहीं होगी। इसलिए हमेशा अल्कोहल-बेस्ड हैंड सैनिटाइज़र अपने साथ रखें। गाड़ी के अंदर जाने के बाद किसी भी हैंडल या खिड़की को छूने के बाद, अपने फ़ोन को छूने से पहले, अपनी पानी की बोतल को छूने से पहले और गाड़ी से उतरने के बाद इसका उपयोग करें।

इसके साथ ही अपने हाथों को साफ़ या स्वच्छ किए बिना आंख, नाक, मुंह को छूने से बचें।

ऑफ़िस पहुंचने के बाद अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं। अगर साबुन और पानी उपलब्ध है, तो उसका उपयोग करें। पर याद रखें सिर्फ़ हाथ धोना काफ़ी नहीं है, बल्कि सही तरीक़े से हाथों को धोना ज़रूरी है। हाथों को धोने का सही तरीक़ा जानने के लिए यहां क्लिक करें। 

५) अपनी चीज़ों का ख़्याल रखें

पहले यात्रा करते समय आप अपने हैंडबैग, छाता, टिफिन बैग आदि को ऑफ़िस की गाड़ी की फ़र्श या सीट पर या गाड़ी की डिग्गी में रखते होंगे। पर लॉकडाउन और कोविड-१९ के बाद ऐसा न करना ही बेहतर है। सबसे ज़्यादा बार छुई जाने वाली सतह होने की वजह से हो सकता है उन पर वही कीटाणु हों, जिनसे आप बच रहे हैं। इसलिए आप अपना सारा सामान अपने बैग के अंदर रखें और बैग को अपनी गोद में रखें। लेकिन अगर आपका बैग बहुत भारी है और इसे नीचे रखने की ज़रूरत है, तो रख दें, परंतु मंज़िल पर पहुंचने के बाद इसे साफ़ और कीटाणु-मुक्त करना न भूलें। 

६) घर लौटने के बाद सावधानी बरतें

अगर आपके घर में बच्चे या वरिष्ठ नागरिक हैं, तो आपको अतिरिक्त सावधानी के तौर पर उन सभी चीज़ों को अच्छी तरह से साफ़ और कीटाणु-मुक्त करना चाहिए, जिन्हें आप घर से बाहर लेकर गए थे। इसमें आपके कपड़े, स्कार्फ, यात्रा के दौरान पहने जाने वाले जैकेट और बैग, छाता, मोबाइल फ़ोन, वॉलेट आदि शामिल हैं। बाहर से घर आने के बाद क्या करना चाहिए? यह जानने के लिए इस लेख को पढ़ें।  

अपने कपड़ों को कीटाणु-मुक्त करने के लिए यहां दिए गए टिप्स को आज़माएं। पर न भूलें कि आपके फ़ोन पर भी कई सारे कीटाणु हो सकते हैं, इसलिए इन टिप्स को अपनाकर आप अपने फ़ोन को कीटाणु-मुक्त कर सकते हैं।  

Sources:

https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/daily-life-coping/personal-social-activities.html

https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019/question-and-answers-hub/q-a-detail/q-a-coronaviruses  

मूल रूप से प्रकाशित