विज्ञापन
Buy Domex

शिशु के बीमार होने की सता रही है चिंता? तो कीटाणुओं को रखें दूर अपनाकर ये तरीक़े!

आप अपने शिशु को हमेशा ख़ुश और स्वस्थ देखना चाहते हैं। उन्हें इन्फ़ेक्शन से भी दूर रखना चाहते हैं। ऐसे में आप इन आसान टिप्स का इस्तेमाल कर उन्हें सुरक्षित रख सकते हैं।

अपडेट किया गया

अपने शिशु को कीटाणुओं से कैसे दूर रखें | क्लीएनीपीडिया

फ़्लू सीज़न में अपने शिशु की सेहत की चिंता सताना ज़ाहिर सी बात है। पर इसमें आपको घबराने की ज़रूरत नहीं। आप इन आसान प्रतिबंधक टिप्स को अपनाकर अपने शिशु से इन्फ़ेक्शन को दूर रख सकते हैं।     

१) निजी स्वच्छता के लिए

आप या फिर घर का कोई भी सदस्य अगर शिशु के नज़दीक जाना चाहता है या फिर उसके साथ खेलने की सोच रहा है, तो सबसे पहले अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं। हाथ धोते वक़्त साबुन और पानी का इस्तेमाल करें। साथ ही आप चाहें तो अल्कोहल-बेस्ड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे कि लाइफबॉय के हैंड सैनिटाइज़र।

साथ ही खांसने और छींकने से पहले टिशू पेपर से मुंह को ढंकना न भूलें। अगर टिशू पेपर नहीं है, तो कोहनी में खांसें या फिर छींकें। साथ ही शिशु को छूने से पहले टिशू पेपर को कूड़ेदान में फेंकें और हाथों को धोएं। 

२) शिशु के रूम की सतहों की सफ़ाई के लिए

शिशु से इन्फ़ेक्शन को दूर रखने और उन्हें सुरक्षित रखने के लिए उनके रूम की सतहों की सफ़ाई के साथ उसे कीटाणुमुक्त भी करना ज़रूरी है। सतह मतलब वो चीज़ें जिन्हें शिशु बार-बार छूते हैं, जैसे पालना, डायपर टेबल, रॉकर, कैरी कॉट, प्ले-मैट, खिलौने इत्यादि। इन सारी चीज़ों को दिन में एक बार साफ़ करने के साथ इन पर जमे कीटाणुओं को दूर करें। साथ ही दिनभर सबसे ज़्यादा छूने वाली चीज़ें, जैसे स्विचबोर्ड, दरवाज़े के हैंडल, टेबल, नल, टॉयलेट सीट, टेलीफ़ोन, लैपटॉप आदि को साफ़ करना न भूलें।   

आप सतह की सफ़ाई करने के लिए घर में इस्तेमाल किए जाने वाले साधारण डिटर्जेंट को पानी में मिलाकर सफ़ाई कर सकते हैं। सफ़ाई के बाद उन पर जमे कीटाणु को दूर करना ज़रूरी है। इसके लिए आप ब्लीच से बने (सोडियम हाइपोक्लोराइट) प्रॉडक्ट, जैसे कि डोमेक्स फ़्लोर क्लीनर का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो कीटाणुओं को मारता है। प्रॉडक्ट की योग्यता की जांच के लिए पहले सतह के एक छोटे से हिस्से पर प्रॉडक्ट लगाएं और पानी से धोएं।

विज्ञापन

Buy Domex

३) शिशु के कपड़ों की धुलाई के लिए

आपको पता ही है कि कीटाणु कपड़ों पर भी पनपते हैं। शिशु के कपड़ों को स्वच्छ रखने के साथ उनमें पनप रहे कीटाणुओं को दूर करने के लिए उन्हें धोते वक़्त डिटर्जेंट का इस्तेमाल करें। आप कपड़े को धोने के लिए रिन आला जैसे ब्लीच (सोडियम हाइपोक्लोराइट) का उपयोग कर सकते हैं। रिन आला में सोडियम हाइपोक्लोराइट ब्लीच होता है, इस वजह से हमारा सुझाव है कि आप इसका इस्तेमाल सिर्फ़ सफ़ेद कपड़ों पर करें। रंगीन कपड़ों पर प्रयोग न करें। इसका इस्तेमाल करते वक़्त दस्ताने पहनना न भूलें।

कपड़ों को धोने के लिए अगर आप वॉशिंग मशीन का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो कपड़ों पर लगे लेबल को पढ़ें और उस पर लिखे गए निर्देशों के अनुसार सही तापमान का इस्तेमाल करके उन्हें धोएं। आख़िर में इन्हें धूप में अच्छी तरह से सुखाएं। 

४) निजी चीज़ों की सफ़ाई के लिए

अपने प्लेट या फिर चम्मच से शिशु को खिलाने की आदत होती है। कहते हैं इससे प्यार बढ़ता है, पर कीटाणु भी फैलते हैं। शिशु के लिए अलग से प्लेट, ग्लास, कप, चम्मच इत्यादि का इस्तेमाल करें। जिसका इस्तेमाल सिर्फ़ शिशु के लिए या फिर उन्हें खाना खिलाते वक़्त करें। साथ ही शिशु और घर के सभी सदस्यों के बर्तन, क्रॉकरी को अच्छे डिशवॉशिंग डिटर्जेंट का इस्तेमाल कर धोएं। घर की चीज़ों को साबुन और पानी से धोएं और इस्तेमाल के बाद इन पर जमे कीटाणुओं को दूर करें।      

अगर आप इन आसान टिप्स का इस्तेमाल करते हैं, तो आप अपने शिशु के साथ अपने आप को भी इन्फ़ेक्शन से दूर रख सकते हैं।

मूल रूप से प्रकाशित