विज्ञापन
Buy Domex

लॉकडाउन के बाद करवाना चाहते हैं हेल्थ चेकअप? तो अपनी सुरक्षा के लिए पढ़ें ये टिप्स फटाफट!

कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से आपने अपने कई सारे मेडिकल टेस्ट और चेकअप को टाल दिया होगा। लेकिन रूटीन चेकअप करवाना ज़रूरी है, जिसे आप कतई टाल नहीं सकते। तो लॉकडाउन हटने के बाद अपने डॉक्टर से सुरक्षित मुलाकात करने के लिए इन टिप्स को अपनाएं।

अपडेट किया गया

लॉकडाउन के बाद करवाना चाहते हैं हेल्थ चेकअप? तो अपनी सुरक्षा के लिए पढ़ें ये टिप्स फटाफट! | क्लीएनीपीडिया

डॉक्टर हमारे फ्रंटलाइन वॉरियर हैं, ऐसे में उनका कीटाणु और संक्रमण से सुरक्षित रहना ज़रूरी है। इसलिए अपने डॉक्टर से मिलने से पहले अपॉइंटमेंट लें। आप नियमित रूप से जिस अस्पताल या क्लीनिक में चेकअप करवाते हैं, हो सकता है अब उस अस्पताल या क्लीनिक में डॉक्टर आपसे न मिल पाएं। अत: घर से बाहर निकलने से पहले ये पता लगाएं कि आपके डॉक्टर आपसे किस क्लीनिक या अस्पताल में किस समय मिलेंगे। 

यह भी देखें कि क्या आपके डॉक्टर टेली-कंसल्टेशन सेवा प्रदान करते हैं। अगर वर्चुअल चेकअप संभव है, तो लॉकडाउन हटाए जाने के बाद उनसे आमने-सामने बातचीत करने से बचना बेहतर होगा। अगर आपके डॉक्टर आपसे व्यक्तिगत रूप से मिलने का सुझाव देते हैं, तो अपने और डॉक्टर की सुरक्षा के लिए इन टिप्स को अपनाएं। 

अगर आपकी स्थिति और डॉक्टर की सलाह, दोनों के अनुसार वर्चुअल कंसल्टेशन संभव है तो उसे प्राथमिकता दें, इससे आप अन्य मरीज़ों के संपर्क में आने से बच जाएंगे।

१) फेस मास्क पहनें  

सार्वजनिक जगह पर आपको अपने मुंह और नाक को हमेशा ढंककर रखना चाहिए। मगर यह भी जान लें कि फेस मास्क सही ढंग से कैसे पहनना चाहिए। ऐसा फेस मास्क पहनें जिससे आपका मुंह और नाक दोनों अच्छी तरह से ढंक जाए। अगर मास्क पर लगी इलास्टिक ढीली हो गई है या फिर मास्क फट गया है, तो उसे डिस्पोज़ कर दें और नया मास्क पहनें। कृपया यह सुनिश्चित करें कि मास्क अच्छी तरह से फिट बैठे और आपको पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करे। अगर आप लगातार मास्क को ठीक कर रहे हैं, तो मास्क पहनने का कोई मतबल नहीं बनता। कपड़े के मास्क को हर इस्तेमाल के बाद धोएं। यदि आप डिस्पोज़ेबल मास्क का उपयोग कर रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप उसे सुरक्षित और स्वच्छता के साथ डिस्पोज़ करें। 

विज्ञापन

Buy Domex

२) सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें 

अस्पताल या क्लीनिक में बहुत से लोग होते हैं। इसलिए यह सुनिश्चित करें कि आप अपने स्वास्थ्य सेवा सलाहकार द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन कर रहे हैं या नहीं। अगर हो सके, तो डॉक्टर से अकेले ही मिलें। अपने परिवार के किसी अन्य सदस्य को अपने साथ अस्पताल या क्लीनिक में न ले जाएं। अस्पताल या क्लीनिक में सबसे ६ फीट की दूरी बनाए रखें। डॉक्टर या अस्पताल के कर्मचारियों के साथ अनावश्यक संपर्क न बनाएं। अपनी टेस्ट रिपोर्ट और मेडिकल हिस्ट्री को अपने डॉक्टर के साथ ऑनलाइन शेयर करें। अगर संभव हो, तो डॉक्टर की फीस नकद  भुगतान करने की बजाय ऑनलाइन पेमेंट का इस्तेमाल करें।

३) हाथों को धोते रहें 

अपने घर से अस्पताल या क्लीनिक की यात्रा के दौरान आपको डोरनॉब्ज़, लिफ्ट के बटन आदि को छूना पड़ सकता है। इसलिए हमेशा अपने पास हैंड सैनिटाइज़र रखें। अगर आप किसी सतह को छूते हैं, तो साबुन और पानी से अपने हाथों को धोएं या फिर हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें।

हाथों को स्वच्छ रखने से आप सुरक्षित और स्वस्थ रह सकते हैं। डॉक्टर की केबिन में प्रवेश करने से पहले अपने हाथों को स्वच्छ करें। क्लीनिक या अस्पताल द्वारा बताए गए सभी नियमों का पालन करें।  यह आपकी सुरक्षा के लिए ही बनाए गए हैं। घर लौटने के बाद अपने हाथों को साबुन और गुनगुने पानी से कम से कम २० सेकेंड तक धोएं। बाहर से घर लौटने के बाद आपको क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए, यह जानने के लिए यहां क्लिक करें।

अगली बार जब आप चेकअप के लिए अपने डॉक्टर से मिलने जाएं, तो इन बातों को ज़रूर ध्यान में रखें।

Source:

https://patients.healthquest.org/how-to-safely-see-your-doctor-for-non-covid-19-medical-care/

मूल रूप से प्रकाशित