विज्ञापन
Buy Domex

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद पब्लिक ट्रांसपोर्ट से कैसे करें सुरक्षित यात्रा? यहां जानें!

क्या लॉकडाउन के बाद आपने बस, टैक्सी या ट्रेन से यात्रा करनी शुरू कर दी है? तो इन उपयोगी टिप्स को अपनाएं और सुरक्षित यात्रा करें।

अपडेट किया गया

How to Travel Safely Using Public Transport Post Coronavirus Lockdown?

अब जबकि कोरोना वायरस की वजह से लगाया गया लॉकडाउन धीरे-धीरे हट रहा है, तो बस, टैक्सी और ऑटोरिक्शा के माध्यम से स्थानीय परिवहन कड़ी शर्तों के साथ फिर से शुरू हो गया है। जिले और राज्य के अंदर भी परिवहन हिस्सों में शुरू हो गया है। ऐसे में आप भी शायद बाहर जाने के बारे में सोच रहे होंगे। लंबे समय से रुके हुए काम और उन यात्राओं को अब आप पूरा करना चाहते होंगे जो लॉकडाउन की वजह से रुक गए थे। लेकिन अगर आप इस समय स्थानीय आवागमन को फिर से शुरू करते हैं, तो कोविड-१९ से सुरक्षित रहने के लिए नीचे बताए गए एहतियाती सुझावों को ध्यान में रखें।

१) फेस मास्क पहनें 

आप जब भी घर से बाहर निकलें, तो फेस मास्क से अपने मुंह और नाक को ढंक कर रखें। जैसा कि आप जानते हैं, कोरोना वायरस छींक की बूंदों से फैलता है। जब कोई अपने मुंह या नाक को ढंके बिना छींकता या खांसता है, तो उससे संक्रमण कई फीट तक फैल जाता है। इससे बचाव के लिए फेस मास्क ज़रूर पहनें। क्योंकि सार्वजनिक परिवहन में कम जगह में कई सारे यात्री होते हैं, इसलिए ऐसे में फेस मास्क आपकी सुरक्षा करता है। घर वापस आने के बाद फेस मास्क को अच्छी तरह से डिस्पोज़ करना न भूलें। यहां पढ़ें कि फेस मास्क को सुरक्षित तरीक़े से डिस्पोज़ कैसे करें। 

२) यात्रा से पहले और दौरान सामाजिक दूरी बनाए रखें 

बस स्टॉप या रेलवे स्टेशन पर आस-पास इकट्ठा न हों। लाइन में खड़े रहकर दूसरों से कम से कम ६ फीट की दूरी बनाए रखें। बस, ट्रेन, टैक्सी या ऑटोरिक्शा का इंतज़ार करते समय भी दूसरों से इतनी ही दूरी बनाए रखें। इससे अगर कोरोना वायरस से संक्रमित कोई व्यक्ति अपने मुंह और नाक को बिना ढंके छींकता या खांसता है, तो उसके छींक की बूंदें आपके कपड़े या बैग पर आने की संभावना कम होगी।

चूंकि बसों को पहले से ही सिर्फ़ ५०% यात्रियों को बिठाने की सलाह दी गई है, लेकिन फिर भी आपको बस में बैठने या खड़े होने के दौरान साथी यात्रियों से पर्याप्त दूरी बनाए रखना ज़रूरी है। जिस बस या ट्रेन में ज़्यादा भीड़ हो उसमें यात्रा करने से बचें।

अगर आप टैक्सी या ऑटोरिक्शा से यात्रा कर रहे हैं, तो ऐसे व्यक्ति के साथ यात्रा करें जिन्हें आप जानते हों, जैसे आपका कोई दोस्त या परिवार का कोई सदस्य। अजनबियों के संग यात्रा करने से बचें।

विज्ञापन

Buy Domex

३) अनावश्यक चीज़ों को छूने से बचें

बस स्टॉप या रेलवे स्टेशन पर रेलिंग, सीटों, टिकट मशीन, टिकट खिड़कियों आदि को न छुएं। वाहन के अंदर, आने-जाने के दौरान, जहां तक संभव हो सीटों, खिड़कियों, हैंडल, हेडरेस्ट आदि को छूने से बचें। इन सतहों को पूरे दिन में कई सारे यात्री छूते रहते हैं। अगर उन यात्रियों में से कुछ बीमार हैं और खांसने और छींकने के बाद अपने हाथों को बिना धोए सतह को छूते हैं, तो कोरोना वायरस या अन्य संक्रमण को उस सतह पर पहुंचा कर वे दूसरों को भी संक्रमित कर सकते हैं।

बचाव का अगला टिप्स यह है कि जब भी आप सार्वजनिक परिवहन में यात्रा कर रहे हों तो उस समय फ़ोन का इस्तेमाल कम से कम करें। आपके द्वारा बार-बार छुई जाने वाली सतहों को छूने के बाद जब आप अपने फ़ोन को छूते हैं तो आपके हाथों से कीटाणु फ़ोन पर पहुंच सकते हैं। अगर कोई व्यक्ति बिना मुंह और नाक ढंके खांसता या छींकता है, तो उससे निकलने वाली बूंदें भी फ़ोन पर गिर सकती हैं।

अपने साथी यात्रियों के साथ कुछ खाने या ग्रुप में कोई खेल जैसे ताश खेलना आदि बंद कर दें। बिना हाथ धोए बार-बार छुई गई सतहों को छूने का ख़तरा भला क्यों  उठाएं?

४) समय-समय पर सही तरीक़े से हाथों को धोएं

सार्वजनिक परिवहन के माध्यम से एक सुरक्षित यात्रा के लिए सबसे ज़रूरी सावधानी समय-समय पर हाथों को धोना है। जब आप सड़क पर होते हैं, तो आपके पास साबुन और पानी नहीं हो सकता है। ऐसे में वाहन से उतरने के बाद, अल्कोहल-बेस्ड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करें, किसी भी सपोर्ट हैंडल या खिड़की को छूने के बाद, अपने फ़ोन को छूने से पहले, अपनी पानी की बोतल या स्नैक्स को छूने से पहले, ट्रांसपोर्ट के लिए भुगतान करने के बाद, वाहन से उतरने के बाद। इसके अलावा, बिना हाथ धोए या सैनिटाइज़ किए अपनी आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें।

अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचने के बाद अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं, अगर साबुन और पानी उपलब्ध हो तो उसका इस्तेमाल करें। याद रखें, केवल हाथ धोना या साफ़ करना काफ़ी नहीं है। यह सही तरीक़े से किया जाए तो ही प्रभावी होता है। आप यहां हाथ धोने का सही तरीक़ा पढ़ सकते हैं।

५) अपने व्यक्तिगत सामान की सुरक्षा करें

हो सकता है कि पहले यात्रा करते समय आप अपने हैंडबैग, छाता, टिफिन बैग आदि को फ़र्श पर, ओवरहेड रैक पर या अपने बगल की खाली सीट पर रखते हों। लेकिन लॉकडाउन के बाद ऐसा करने से बचना होगा। ये बार-बार छुई जाने वाली सतह होने की वजह से हो सकता है उन पर कोरोना वायरस के संक्रमण हों। अगर आपका बैग भारी है या आप अपने बच्चे के साथ यात्रा कर रहे हैं और बैग को यात्रा के दूसरे सामानों के साथ किनारे रख रहे हैं, तो अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचने के बाद उन्हें साफ़ और कीटाणु-मुक्त करें।

६) कपड़े और दूसरे सामानों को साफ़ व कीटाणु-मुक्त करें

अतिरिक्त सावधानी के रूप में, ख़ासकर तब जब आपके घर में बच्चे या वरिष्ठ नागरिक हों, तो सार्वजनिक परिवहन के दौरान अपने साथ बाहर ले जाने वाली सभी वस्तुओं को अच्छी तरह से साफ़ और कीटाणु-मुक्त करें। इसमें आपके कपड़े, स्कार्फ, यात्रा के दौरान पहने जानेवाले जैकेट और आपका बैग, छाता, मोबाइल फ़ोन, वॉलेट आदि शामिल हैं। इस लेख में यह सुझाव दिया गया है कि बाहर से घर आने के बाद क्या करना चाहिए।

अपने कपड़ों को कीटाणु-मुक्त करने के लिए यहां दिए गए सरल उपायों को अपनाएं। यह न भूलें कि आपके फ़ोन पर भी कीटाणु हो सकते हैं। यहां आप अपने फ़ोन को कीटाणु-मुक्त करने के तरीक़े जान सकते हैं। 

Sources:

https://timesofindia.indiatimes.com/city/mumbai/best-nmmt-to-carry-officegoers-from-mon/articleshow/76225622.cms

https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019/question-and-answers-hub/q-a-detail/q-a-coronaviruses

मूल रूप से प्रकाशित