विज्ञापन
Buy Domex

सीनियर सिटीज़न होने के नाते सता रही है संक्रमण की चिंता? तो इन उपायों को अपनाएं!

यदि आप सीनियर सिटीज़न हैं तो इस फ़्लू सीज़न में सरकार की सलाह के अनुसार आपको घर में ही रहना चाहिए। ऐसे में घर में रहकर ख़ुद को स्वस्थ रखने और संक्रमण से बचने के लिए घर की और निजी स्वच्छता की ये जानकारी ज़रूर जानें और इस पर अमल करें।

अपडेट किया गया

सीनियर सिटीज़न होने के नाते ख़ुद को संक्रमण से कैसे बचाएं | क्लीएनीपीडिया

अगर आप ६० साल के ऊपर हैं, तो ज़ाहिर है कि घर के युवा व्यक्ति के मुक़ाबले आपकी इम्युनिटी बेशक कम होगी। इसी वजह से फ़्लू के दौरान आपको इन निवारक उपायों का पालन करना ज़रूरी है। सबसे पहले आपके ज़्यादातर परिवार के सदस्यों से जितना हो सके उतना दूर रहें। साथ ही अपने लिए और अपने परिवार के लिए निवारक उपायों का पालन करें।

१) निजी स्वच्छता के लिए

अपनी निजी स्वच्छता की तरफ़ ध्यान दें और अपने परिवार के सदस्यों को भी निजी स्वच्छता की तरफ़ ध्यान देने के लिए कहें। साथ ही आप साबुन और पानी का इस्तेमाल कर हाथों को बार-बार धोते रहें। या फिर आप अल्कोहल-बेस्ड हैंड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे कि लाइफबॉय के सैनिटाइज़र जो बाज़ार में उपलब्ध है। अगर आप परिवार के लिए खाना बना रहे हैं, तो खाना बनाने से पहले अपने हाथों को ज़रूर धोएं। साथ ही खाना खाने से पहले और बाद में और बाथरूम का इस्तेमाल करने के बाद भी अपने हाथों को धोएं।

आप जब भी खांसते या फिर छींकते हैं, तो उस वक़्त मुंह को टिशू पेपर से ढंकें। फिर टिशू पेपर को तुरंत कचरे के डिब्बे में फेंक दें। अगर टिशू पेपर नहीं है तो खांसते वक़्त कोहनी से मुंह ढंकें। साथ ही आपके परिवार में कोई बीमार है, तो उनसे जितना हो सके उतना दूर रहें। आपके घर में आपकी कोई देखभाल करने वाला है या फिर वॉर्ड बॉय या मेड है, तो वे स्वच्छता की इन आदतों का पालन कर रहे हैं कि नहीं इस पर भी ध्यान दें।  

साथ ही घर में हवा का प्रवाह बनाए रखना भी ज़रूरी है। इसलिए लिविंग रूम, बाथरूम, किचन इत्यादि में लगी खिड़कियों को खुला रखें ताकि हवा का प्रवाह बना रहे। आप एयर-कंडिशनर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। 

२) सतह की सफ़ाई के लिए

छींकने के बाद कीटाणु ३ फीट तक फैल सकते हैं और संक्रमण फैला सकते हैं। साथ ही घर की अलग-अलग सतहों पर जाकर चिपक सकते हैं। इसलिए रूम की सतहों को रोज़ साफ़ और कीटाणुमुक्त करना ज़रूरी है। आप चाहें तो सतहों की सफ़ाई के लिए किसी की मदद ले सकते हैं। ऐसी सतहों को आप दिनभर में कई बार छूते हैं, जैसे कि साइड टेबल, व्हीलचेयर, वॉकर, चश्मा, फ़ोन, क़िताब, दवाइयों की बोतलें, सपोर्ट हैंडल्स आदि। इन्हें रोज़ साफ़ करने के साथ कीटाणुमुक्त भी बनाएं। रूम के अंदर की सतहों को साफ़ और कीटाणुमुक्त करने के साथ रूम की बाहरी सतहों को भी रोज़ाना साफ़ करना चाहिए। इन्हें घर का कोई न कोई सदस्य बारंबार छूता ही रहता है, जैसे स्विचबोर्ड, दरवाज़े के हैंडल, मेज़, नल, कैबिनेट हैंडल, टॉयलेट सीट, फ्लश हैंडल, टेलीफ़ोन, लैपटॉप आदि। इन सभी सतहों को रोज़ाना साफ़ करना बेहतर होगा।

इन सभी सतहों को साफ़ करने के लिए घर में इस्तेमाल किए जाने वाले डिटर्जेंट को पानी में मिलाकर इससे सफ़ाई करें। सफ़ाई के बाद स्वच्छता के लिए उन्हें कीटाणुमुक्त भी रखें। इसके लिए आप ब्लीच-बेस्ड (सोडियम हाइपोक्लोराइट) प्रॉडक्ट, जैसे कि डोमेक्स फ़्लोर क्लीनर का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो कीटाणुओं को मारता है। प्रॉडक्ट का इस्तेमाल करने से पहले उसकी जांच करने के लिए उसे एक छोटे से हिस्से पर इस्तेमाल करके देखें।

सभी सतहों की सफ़ाई और उन्हें कीटाणुमुक्त करने के लिए किसी की मदद लें।

विज्ञापन

Buy Domex

३) कपड़ों की धुलाई के लिए

सिर्फ़ सतह पर नहीं, कपड़ों में भी कीटाणु अपना घर बना सकते हैं। कपड़ों को साफ़ और कीटाणुमुक्त रखने का आसान तरीक़ा है, कपड़ों को अच्छी तरह से धोना। कपड़ों को कीटाणुमुक्त रखने के लिए उन्हें धोते वक़्त डिटर्जेंट का इस्तेमाल करें। आप अपने परिवार या फिर देखभालकर्ता को कपड़ों और चद्दर धोते वक़्त रिन आला जैसे ब्लीच (सोडियम हाइपोक्लोराइट) का उपयोग करने के लिए कहें। रिन आला में सोडियम हाइपोक्लोराइट ब्लीच होता है, इस वजह से हमारा सुझाव है कि आप इसका इस्तेमाल सिर्फ़ सफ़ेद कपड़ों पर करें। रंगीन कपड़ों पर प्रयोग न करें। साथ ही ब्लीच का इस्तेमाल करते वक़्त हाथों में दस्ताने पहनना न भूलें।

कपड़ों को धोने के लिए अगर आप वॉशिंग मशीन का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो कपड़ों पर लगे केयर लेबल को पढ़ें और उस पर लिखे गए निर्देशों के अनुसार सही तापमान पर उन्हें धोएं। आख़िर में इन्हें धूप में अच्छी तरह से सुखाएं और तह करके रखें। 

४) घरेलू चीज़ों की सफ़ाई के लिए

आपके लिए अलग प्लेट, ग्लास, कप और कांटा-छुरी होंगे तो बेहतर होगा। परिवार के सदस्य और देखभालकर्ता जो बर्तन इस्तेमाल कर रहे हैं, उन्हें आप इस्तेमाल न करें। इससे बर्तन के माध्यम से कीटाणु नहीं फैलेंगे। बर्तन और क्रॉकरी को रोज़ नियमित रूप से एक अच्छे डिशवॉश डिटर्जेंट का उपयोग करके धोएं। साथ ही घर की बाकी चीज़ें या निजी चीज़ें, जैसे डेन्चर, चश्मा, चश्मे का कवर, प्रेयर बैग आदि को साबुन और पानी का इस्तेमाल करके धोएं और इस्तेमाल के बाद उन्हें कीटाणुमुक्त ज़रूर करें।

घरेलू चीज़ों की सफ़ाई करते वक़्त परिवार के सदस्य को आपकी सहायता करने के लिए कहें।

इन टिप्स को अपनाएं और इस फ़्लू सीज़न में संक्रमण से दूर रहें।

मूल रूप से प्रकाशित