अपने वॉटर प्यूरीफ़ायर की उम्र है बढ़ानी? तो इन बातों को याद रखें ज़ुबानी!

क्या आप वॉटर प्यूरीफ़ायर की उम्र और क्षमता को बनाए रखना चाहते हैं? तो इन बातों का रखें ध्यान ताकि पानी का शुद्धिकरण यंत्र रहे हमेशा नए समान।

अपडेट किया गया

Easy Tips to fix and maintain your water purifier

अलग तरीक़े के फ़िल्टर्स और टेक्नोलॉजी से लेस वॉटर प्यूरीफ़ायर की जानकारी जितनी ज़रूरी है उतना ही ज़रूरी है वॉटर प्यूरीफ़ायर को सही ढंग से मेंटेन करने के बारे में जानना भी, वरना अच्छी लागत लगाकर ख़रीदा गया आपका पानी का शुद्धिकरण यंत्र जल्द ही ख़राब हो सकता है। तो चलिए जानते हैं वॉटर प्यूरीफ़ायर की देखभाल से जुड़ी बातें।

१) वॉटर फ़िल्टर बदलते रहें

वॉटर प्यूरीफ़ायर में फ़िल्टर ही सारा काम करता है और पानी की अशुद्धियों को दूर करने में भी इसकी भूमिका अहम होती है। यह हम तक शुद्ध पानी पहुंचाता है। ऐसे में फ़िल्टर में ख़राबी से पानी का फ्लो कम हो जाता है, पानी का स्वाद बदल जाता है या फिर पानी से बदबू आने लगती है। इनमें से कोई भी समस्या अगर सिर उठाने लगे तो समझ जाएं कि फ़िल्टर को बदलने का वक़्त आ गया है और देर ना करते हुए जल्द से जल्द कंपनी के अधिकृत टेक्नीशियन से संपर्क करें और फ़िल्टर बदलवाएं।

२) सॉइल्ड फ़िल्टर कार्ट्रिज

पानी के लगातार फ़िल्टर होने की वजह से फ़िल्टर कार्ट्रिज अक्सर बंद हो जाता है। यह पानी के प्रवाह को प्रभावित कर सकता है। इसलिए इसे २-३ महीने के अंतराल में साफ़ करें या बदलें। इसे बदलने के लिए वॉटर प्यूरीफ़ायर के साथ मिले दिशा-निर्देश किताब को पढ़ें।

३) रिसाव को नजरअंदाज न करें

अगर आपके वॉटर प्यूरीफ़ायर से लगातार रिसाव हो रहा है, या फिर पानी के टपकने की शिकायत है, तो इसे नजरअंदाज करने की गलती न करें, आगे चलकर यह भारी पड़ सकती है। ऐसे में वेल ट्रेन्ड टेक्नीशियन से संपर्क करें और जानें कि रिसाव का कारण क्या है। जब यह आप जान जाएं, तो इसका समाधान जल्द से जल्द निकालने की कोशिश करें। अगर सील करने की ज़रूरत है तो तुरंत सील करें।

४) टैंक भरें और खाली करें

हमेशा याद रखें कि सिस्टम को असेम्बल या रीअसेम्बल करने के तुरंत बाद अपने प्यूरीफ़ायर से पानी न पिएं। हमारा सुझाव है कि आप टैंक का उपयोग करने से पहले कम से कम एक बार टैंक को पूरी तरह भरें और पानी को ड्रेन करें।

ऐसे आप अपने वॉटर प्यूरीफ़ायर की क्षमता और उम्र दोनों को बढ़ा सकते है।

मूल रूप से प्रकाशित