विज्ञापन
Buy Surf Excel Matic

सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन घर लाएं, कपड़ों की धुलाई को आसान बनाएं!

क्या आप बाल्टी से कपड़े धोने की झंझट से मुक्ति चाहते हैं, और इसलिए वॉशिंग मशीन ख़रीदने की सोच रहे हैं? तो आप सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन को अपनी पहली पसंद बना सकते हैं।

अपडेट किया गया

Upgrading from a bucket to a semi-automatic washing machine? Make an informed choice

हाथ से कपड़े धोने पर समय के साथ ताकत और मेहनत भी बहुत लगती है। कभी-कभी तो कपड़ों से दाग़ पूरी तरह से साफ़ भी नहीं हो पाता और कपड़ों को सुखाने में भी ज़्यादा समय लगता है। अगर आप इन सारी परेशानियों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आज ही घर लाएं सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन, मगर इससे जुड़ी ये बातें भी ज़रूर जानें।

१) कपड़ों की सफ़ाई

बाल्टी से कपड़ों को धोते वक़्त कपड़े पूरी तरह से साफ़ नहीं हो पाते, तो कभी-कभार दाग़ भी ज्यों के त्यों रह जाते हैं। ऐसे में आप कपड़ों की धुलाई के लिए सेमी-ऑटोमैटिक मशीन का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये कपड़ों की अच्छी तरह धुलाई करता है और साथ ही कपड़ों से दाग़ के नामोनिशान को भी मिटाता है। सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में कपड़ों की बेहतरीन सफ़ाई के लिए आप सर्फ़ एक्सेल मैटिक लिक्विड का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये आसानी से पानी में घुल जाता है।

२) समय की बचत

बाल्टी से कपड़ों को धोने के लिए ज़्यादा समय लगता है। वहीं सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में आप उसकी क्षमता के अनुसार एकसाथ कई कपड़े धो सकते हैं। जैसे अगर आप ६.५ या फिर ७.५ किलो की मशीन ख़रीदते हैं तो आप इसमें एकसाथ ८ से १० कपड़ों को धो सकते हैं। अगर आप ८ से १० किलो की मशीन ख़रीदते हैं, तो इसमें आप एकसाथ १२ से १५ कपड़े धो सकते हैं। तो ज़ाहिर सी बात है, वॉशिंग मशीन का इस्तेमाल कर आप समय की बचत भी कर सकते हैं।

विज्ञापन

Buy Surf Excel Matic

३) इस्तेमाल में आसान

टॉप-लोडिंग और फ्रंट-लोडिंग वॉशिंग मशीन के मुक़ाबले सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन का इस्तेमाल करना बेहद आसान है। टॉप-लोडिंग और फ्रंट-लोडिंग वॉशिंग मशीन के सेटिंग मोड थोड़े मुश्किल होते हैं, इन्हें समझने में थोड़ा वक़्त लगता है। पर सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन के फंक्शन को आप आसानी से कम समय में समझ सकते हैं।

४) क़ीमत भी कम

सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन की क़ीमत टॉप-लोडिंग और फ्रंट-लोडिंग वॉशिंग मशीन के मुक़ाबले कम होती है। हां, मगर इसकी क़ीमत मशीन की कपड़े धोने की क्षमता के अनुसार बढ़ती जाती है यानी जितना ज़्यादा किलो उतनी ज़्यादा क़ीमत। अत: अपने बजट और ज़रूरत को ध्यान में रखकर सही वॉशिंग मशीन का चुनाव करें।

तो आज ही अपने घर सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन लाएं और हाथ से कपड़े धोने की परेशानी से छुटकारा पाएं।

मूल रूप से प्रकाशित