रिवर्स ऑस्मोसिस वह चीज़ है, जिसके बारे में आप किसी वाटर प्यूरीफ़ायर की चर्चा के दौरान सुनते हैं| आज इस बारे में पढ़ें और जानें कि यह क्या है और कैसे काम करता है!
रसोई की सफाई

रिवर्स ऑस्मोसिस वह चीज़ है, जिसके बारे में आप किसी वाटर प्यूरीफ़ायर की चर्चा के दौरान सुनते हैं| आज इस बारे में पढ़ें और जानें कि यह क्या है और कैसे काम करता है!

एक सही वाटर प्यूरीफ़ायर की तलाश करना भी एक बड़ा काम है| आकर्षक विज्ञापनों में और सेल्समेन के द्वारा अपने उत्पाद को बेचने के लिए काफ़ी कुछ कहा जाता है| लेकिन वास्तव में इनमें से कितनी बातें सही होती हैं?

रिवर्स ऑस्मोसिस (आरओ) एक ऐसा शब्द है, जो वाटर प्यूरीफ़ायर के बारे में बात करते समय अक्सर सुना जाता है| आइए जानें कि आरओ क्या है और यह आपके वाटर प्यूरीफ़ायर में क्युं महत्वपूर्ण होता है|

  • रिवर्स ऑस्मोसिस कैसे काम करता है?
    आरओ पानी को एक मेम्ब्रेन टेक्नोलॉजी के माध्यम से फ़िल्टर करता है| जब पानी किसी चुनिंदा मेम्ब्रेन के एक ओर होता है तो यह पानी पर दबाव डालकर घोल से विभिन्न प्रकार के बड़े मोलेक्युल्स और आयन्स को निकाल देता है| दूसरी ओर सॉल्वेंट मेम्ब्रेन से होकर गुज़र सकता है और यही आपका फ़िल्टर्ड पानी होता है|
  • आरओ आपके पानी के साथ क्या करता है?
    आरओ पानी से संदूषित तत्व निकालकर उसके स्वाद और उसकी दिखावट को बेहतर बनाता है| यह पानी से अनेक प्रकार के रसायनों को निकालता है, जैसे लेड, आर्सेनिक, बैरियम, नाइट्रेट्स आदि| इस मेम्ब्रेन की बैक्टेरिया रिजेक्शन दर अत्यधिक होती है| यह आपके पानी को सुरक्षित बनाने के लिए सबकुछ करता है|
  • क्या आरओ सिस्टम का रखरखाव मुश्किल होता है?
    इसमें फ़िल्टर को 6 महीने में एक बार बदलना होता है| एक आरओ प्यूरीफ़ायर के साथ सरल दिशानिर्देश दिए जाते हैं|

हर दिन पैकेज्ड पीने का पानी खरीदने के बजाय आरओ वाटर प्यूरीफ़ायर लगवाना फ़ायदेमंद होता है|

प्रो-टिप

आरओ मेम्ब्रेन एक विशेष दबाव और तापमान पर काम करने के लिए निर्धारित होती है; कोई प्यूरीफ़ायर खरीदने से पहले हमेशा उसके विवरणों की पुष्टि कर लें|