कपड़े धोएं फ़ैब्रिक के अनुसार, ताकि चमक रहे बरक़रार!

अगर आपने कपड़ों को सही तरीक़े से नहीं धोया तो कपड़े जल्दी ख़राब हो सकते हैं। तो चलिए, जानते हैं कपड़ों को सही तरीक़े से कैसे धोएं।

अपडेट किया गया

Tips to Help You Launder Different Types of Fabric

बहुत कम लोग जानते हैं कि अलग-अलग तरह के कपड़ों को धोने के लिए अलग-अलग तरीक़े होते हैं। जो इन्हीं ख़ास तरीक़ों के बारे में नहीं जानते, उन्हीं के लिए हम बताने जा रहे हैं कपड़ों को धोने के तरीक़े और उन्हें नए जैसा बनाए रखने की तरक़ीब।

१) कॉटन के कपड़े

कॉटन के कपड़े हमेशा ठंडे या फिर गुनगुने पानी में धोएं, इन्हें धोने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल न करें। साथ ही, सफ़ेद और गाढ़े रंग के कपड़ों को अलग-अलग धोएं। इससे गाढ़े रंग के कपड़ों का रंग सफ़ेद कपड़ों पर नहीं चढ़ेगा। कॉटन कपड़ों को धोते वक़्त हमेशा माइल्ड डिटर्जेंट का इस्तेमाल करें।

२) पॉलिएस्टर के कपड़े

पॉलिएस्टर के कपड़ों पर लगे केयर लेबल को ज़रूर पढ़ें। लेबल पर ‘हैंड वॉश’ लिखा है, तो गुनगुने पानी और माइल्ड डिटर्जेंट का इस्तेमाल करके इसे धोएं। अगर लेबल पर ‘सिर्फ़ ड्राय क्लीन’ लिखा हो तो ड्राय क्लीन करवाएं। इससे पॉलिएस्टर के कपड़े नए जैसे दिखेंगे।

३) ऊनी कपड़े

ऊनी कपड़े धोने से पहले उनपर लगे केयर लेबल को ज़रूर पढ़ें। अगर लेबल पर 'मशीन वॉश' लिखा है तो इसे वॉशिंग मशीन में धोएं। अगर लेबल पर 'हैंड वॉश' लिखा है तो कपड़ों को हाथ से धोएं। साथ ही इन कपड़ों को हमेशा गुनगुने पानी में धोएं; ठंडे पानी का इस्तेमाल करने से कपड़े सिकुड़ सकते हैं। ऊनी कपड़ों की चमक बरक़रार रखने के लिए फ़ैब्रिक सॉफ़्टनर का इस्तेमाल ज़रूर करें।

४) सिल्क के कपड़े

सिल्क के कपड़े बेहद सुंदर और मुलायम होते हैं, इसलिए उनके केयर लेबल पर 'सिर्फ़ ड्राय क्लीन करें’ लिखा होता है। तो बेहतर होगा कि इन्हें ड्राय क्लीन के लिए ही दें। अगर आप इन्हें हाथ से धो रहे हैं, तो गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें। साथ ही, इन्हें धोने के लिए बेबी शैम्पू या माइल्ड डिटर्जेंट का इस्तेमाल करें।

तो इस तरह आप अपने कपड़ों को सही तरीक़े से धोकर उनकी उम्र बढ़ा सकते हैं!

मूल रूप से प्रकाशित