बारिश की आहट से हो रही घबराहट? यूं करें घर की हिफ़ाज़त!

मानसून तैयार घर के लिए यहां कुछ स्मार्ट तरकीबें और त्वरित सुधार दिए गए हैं।

आपके घर को बारिश के समय होने वाले नुक़सान को रोकने के लिए कुछ सुझाव

बारिश के लिए घर को तैयार रखने के लिए कुछ समझदारी भरे उपाय और समाधान यहां दिए गए हैं।

बारिश के मौसम में घर रेनोवेशन नहीं करेंगे तो बेहतर होगा।

१) एक्सटीरियर्स (घर के बाहरी हिस्से)

१.१) दरारों और लीकेज को ठीक कीजिए ताकि बारिश का पानी अंदर न आने पाए।

१.२) वॉटर प्रूफिंग करवाइए, जैसे कि दीवारों पर सीमेंट या वॉल पुट्टी, वाटरप्रूफ पेंटिंग करवाएं।

१.३)  पानी की पाइपों को अवरोध के लिए जांचिए नहीं तो पानी अच्छे से ड्रेन नहीं होगा ।

२) दरवाज़े और खिड़कियां

२.१) धातु के फिक्सचर्स पर ज़ंग-रोधी पेंट लगाएं, बारिश के पानी से उन पर ज़ंग लगने की संभावना है।

२. २) कब्ज़ों (हिंजेस) पर तेल लगाएं।

२.३) लकड़ी के दरवाज़े बारिश में फूल जाते हैं। इस सूजन को दूर करने के लिए सैंड पेपर्स का उपयोग करें।

३) इलेक्ट्रिकल्स और इलेक्ट्रॉनिक्स

३.१) कॉर्ड्स और स्विचबोर्ड्स की जांच कर लें, अगर उनपर पानी लग गया तो शॉर्ट सर्किट हो सकता है जिससे घर पर आग भी लग सकती है।

३.२)  खुले वायर्स को ढंक दें या हटा दें।

३.३) स्विचबोर्ड के पास पानी के रिसाव को जांचें।

४) फर्नीचर

४.१) लकड़ी के फर्नीचर पर मोम लगाएं, बारिश में उनमें नमी हो जाती है।

४.२) लकड़ी के फर्नीचर के अंदर नैफ्थलीन की गोलियां रखें जो कीट को दूर रखेंगे।

४.३) सफ़ाई के लिए गीले कपड़े का उपयोग न करें, लकड़े का फर्नीचर ख़राब हो जाएगा।

५) अपहोल्स्ट्री

५.१) कार्पेट्स का उपयोग न करें, क्योंकि वे पानी जल्दी नहीं सोखते और नमी की वजह से उनमें बदबू हो सकती है।

५.२)   लिनेन, बेड कवर्स और परदों को नमी के लिए जांच लें।

इस बारिश के मौसम में, अपने घर को प्यार और देखभाल दीजिए।