घर की बाहरी दीवार हो गई है पपड़ीदार? हमारे पास है इसका उपचार!

घर की बाहरी दीवारें बहुत जल्दी पपड़ीदार हो जाती हैं। अगर सही समय पर उपचार न किया जाए तो दीवारों पर फफूंदी भी लग जाती है। आइए जानें इससे निपटने के उपचार।

अपडेट किया गया

Are your home’s exterior walls flaky due to extreme weather conditions? Here are a few ways in which you can fix it!

घर के अंदर की दीवार के मुक़ाबले मौसम की मार के चलते बाहरी दीवारें जल्दी ख़राब हो जाती हैं। अगर पपड़ीदार दीवार को अलविदा कहना चाहते हैं तो इन सुझाव पर ज़रूर ग़ौर फरमाएं।

पहले दीवार को धोएं और फिलर लगाने से पहले सुखाएं, इससे पपड़ियां फिर से नहीं बनेंगी।

१) पपड़ीदार होने की वजह

सबसे पहले ये जानने की कोशिश करें कि आपके मकान की दीवार पपड़ीदार क्यों है। दरअसल, दीवार कई वजहों से पपड़ीदार हो जाती है, जैसे नमी के इकट्ठा होने से, पर्याप्त धूप न लगने से, सस्ते क्वॉलिटी के पेंट से आदि। वजह जानने के बाद इनका उपचार आसान हो सकता है।

२) फ़ाइन-ग्रिट सैंडपेपर

एक स्क्रेपर लें और दीवार की पपड़ी को निकालें। फिर एक तार वाला ब्रश लेकर बची हुई धूल को भी झाड़ें। अब चिकनाई के लिए एक फ़ाइन-ग्रिट सैंडपेपर का इस्तेमाल करें।

३) पेंटिंग से पहले

फफूंदी से दीवार को बचाए रखने के लिए पेंटिंग से पहले ऐसे सॉल्यूशन (हार्डवेयर दुकानों में उपलब्ध) का इस्तेमाल करें जो पेंट और दीवार को अच्छे से जोड़ता है और फफूंदी पैदा करने वाले जंतुओं को मार देता है। नतीजतन भविष्य में फफूंदी के पनपने का डर नहीं होता।

४) फिलर

दरारों और छिद्रों की मरम्मत करने के लिए अच्छी क्वॉलिटी के फिलर का इस्तेमाल करें। इस्तेमाल से पहले निर्देशों को ज़रूर पढ़ें। लगाने के बाद इसे सुखाएं और फिर सैंडपेपर के इस्तेमाल से दीवार को स्मूद बनाएं।

तो अब अपनी पपड़ीदार दीवार का सही उपचार इस तरह ख़ुद करें !

मूल रूप से प्रकाशित